सुन्दरकाण्ड | Sunderkand

सुन्दरकाण्ड | Sunderkand श्रीजानकीवल्लभो विजयते॥ श्रीरामचरितमानस ॥पञ्चम सोपान ॥ सुन्दरकाण्ड ॥ ॥ श्लोक ॥ शान्तं शाश्वतमप्रमेयमनघं निर्वाणशान्तिप्रदंब्रह्माशम्भुफणीन्द्रसेव्यमनिशं वेदान्तवेद्यं विभुम्।रामाख्यं जगदीश्वरं सुरगुरुं मायामनुष्यं हरिंवन्देऽहं करुणाकरं रघुवरं भूपालचूड़ामणिम् ॥1॥ नान्या स्पृहा रघुपते…

Continue Readingसुन्दरकाण्ड | Sunderkand

हनुमानाष्टक | Hanumanashtak

हनुमानाष्टक | Hanumanashtak श्री हनुमंत लाल की पूजा आराधना में संकट मोचन हनुमान अष्टक का नियमित पाठ करने से भक्तों पर आये गंभीर संकट का भी निवारण हो जाता है।…

Continue Readingहनुमानाष्टक | Hanumanashtak

हनुमान जब चले | Hanuman Jab Chale

हनुमान जब चले | Hanuman Jab Chale हनुमान जब चले,सुग्रीव बोलेवानरों तत्काल तुम जाओ,श्री जानकी मैया का पता जाके लगाओ,होकर निराश तुम जो मेरे पास आओगे,यह सुन लो कान को…

Continue Readingहनुमान जब चले | Hanuman Jab Chale

उठो हे पवनपुत्र हनुमान | Utho He Pawanputar Hanuman

उठो हे पवनपुत्र हनुमान | Utho He Pawanputar Hanuman उठो हे पवनपुत्र हनुमान,सागर पार जाना है,सागर पार जाना है,बनी श्री राम पे विपदा भारी,लंकपति हर लई जनकदुलारी,तुम विरो में वीर…

Continue Readingउठो हे पवनपुत्र हनुमान | Utho He Pawanputar Hanuman

छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना | Chham Chham Nache Dekho Veer Hanumana

छम छम नाचे देखो वीर हनुमाना | Chham Chham Nache Dekho Veer Hanumana भकत बड़े बलवान तुम्ही हो, सालासर हनुमान तुम्ही हो ।आया हूँ मैं दर पे, तुझको आज पुकारा…

Continue Readingछम छम नाचे देखो वीर हनुमाना | Chham Chham Nache Dekho Veer Hanumana

श्री पंचमुखी हनुमान कवच | Shree Panchmukhi Hanuman Kavach

श्री पंचमुखी हनुमान कवच | Shree Panchmukhi Hanuman Kavach अथ ध्यानं प्रवक्ष्यामि।श्रुणु सर्वांगसुंदर ।यत्कृतं देवदेवेन ध्यानं हनुमत्: प्रियम् ॥ 1 पंचकक्त्रं महाभीमं त्रिपंचनयनैर्युतम् ।बाहुभिर्दशभिर्युक्तं सर्वकामार्थसिध्दिदम् ॥ 2 पूर्वतु वानरं वक्त्रं…

Continue Readingश्री पंचमुखी हनुमान कवच | Shree Panchmukhi Hanuman Kavach

हनुमान जी का विवाह | Hanuman Ji Ka Vivah

हनुमान जी का विवाह | Hanuman Ji Ka Vivah तेलंगाना के खम्मम जिले में हनुमान जी का मंदिर बना हुआ है जहां हनुमान जी गृहस्थ रूप में अपनी पत्नी सुवर्चला…

Continue Readingहनुमान जी का विवाह | Hanuman Ji Ka Vivah

श्री हनुमान स्तुति | Shree Hanuman Stuti

प्रनवउ पवनकुमार खल बल पावक ग्यानधन ।जासु ह्रदय आगार बसही राम शर चाप धर ॥ अतुलित बलधामम हेम शैलाभदेहम,दनुज वन कृशानुम ज्ञानिनामग्रगण्याम ।सकल गुणनिधामम वानराणामधीशं,रघुपति प्रियभक्तं वातजातम नमामि ॥ गोष्पदीकृतवारीशम…

Continue Readingश्री हनुमान स्तुति | Shree Hanuman Stuti

हनुमान जी चालीसा | Hanuman Ji Chalisa

।। दोहा ।। श्रीगुरु चरन सरोज रज निजमनु मुकुरु सुधारि।बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि।।बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार।बल बुधि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।। ।। चौपाई…

Continue Readingहनुमान जी चालीसा | Hanuman Ji Chalisa

हनुमान जी आरती | Hanuman Ji Aarti

आरती कीजै हनुमान लला की।दुष्ट दलन रघुनाथ कला की।।जाके बल से गिरिवर कांपे।रोग दोष जाके निकट न झांके।।अंजनि पुत्र महाबलदायी।संतन के प्रभु सदा सहाई।|आरती कीजै हनुमान लला की।दे बीरा रघुनाथ…

Continue Readingहनुमान जी आरती | Hanuman Ji Aarti

End of content

No more pages to load