ब्राह्मणी माता आरती | Brahmani Mata Aarti

ब्राह्मणी माता आरती | Brahmani Mata Aarti ॐ ब्रह्माणी मइया, जय ब्रह्माणी मइया।पल्लू धाम विराजत, सब जन कल्याणी ॥ॐ ब्रह्माणी मइया .. मंगल मोदमयी माँ, पीताम्बर धारी।स्वर्ण छत्र से शोभित,…

Continue Readingब्राह्मणी माता आरती | Brahmani Mata Aarti

जीन माता जी चालीसा | Jeen Mata Ji Chalisa

॥ दोहा ॥ श्री गुरुपद सुमिरण करूँ, गौरीनंदन ध्याय ।वरणऊ माता जीण यश , चरणों शीश नवाय ॥झांकी की अद्भुत छवि , शोभा कही न जाय ।जो नित सुमरे माय…

Continue Readingजीन माता जी चालीसा | Jeen Mata Ji Chalisa

गणेश जी चालीसा | Ganesh Ji Chalisa

॥ दोहा ॥ जय गणपति सदगुणसदन, कविवर बदन कृपाल।विघ्न हरण मंगल करण, जय जय गिरिजालाल॥ ॥ चौपाई ॥ जय जय जय गणपति गणराजू। मंगल भरण करण शुभः काजू ॥जै गजबदन…

Continue Readingगणेश जी चालीसा | Ganesh Ji Chalisa

अंजनी माता जी चालीसा | Anjani Mata Ji Chalisa

।। दोहा ।। चैत्र सुदी वैसाख सुदी, जेष्ठ सुदी को जान।आसाढ़ श्रावण सुदी, चौदस को पहचान।।भादुड़ा आसौज की, और कार्तिक की सुदी।सुदी मार्गशीर्ष और पौष की देती सबको बुद्धि ।।फाल्गुन…

Continue Readingअंजनी माता जी चालीसा | Anjani Mata Ji Chalisa

बाबा खेतरपाल जी आरती | Baba Khetarpal Ji Aarti

ॐ जय खेतरपाल देवा, स्वामी जय खेतरपाल देवा।छिन-छिन भोग लगाऊँ, मोदक और मेवा ।।ॐ जय खेतरपाल देवा..तुम करूणा के सागर, तुम अंतरयामी ।दुःखीयन के दुःखहारी, तुम सबके स्वामी ।।ॐ जय…

Continue Readingबाबा खेतरपाल जी आरती | Baba Khetarpal Ji Aarti

End of content

No more pages to load