गौरी के नंदा गजानंद | Gauri Ke Nanda Gajanand

गौरी के नंदा गजानंद | Gauri Ke Nanda Gajanand गौरी के नंदा गजानंद गौरी के नंदाम्हारा विघ्न हरोगणराज गजानंद गौरी के नंदागौरी के नंदा गजानंद… पिता तुम्हारे है शिव शंकर…

Continue Readingगौरी के नंदा गजानंद | Gauri Ke Nanda Gajanand

गजानंद महाराज पधारो | Gajanand Maharaj Padharo

गजानंद महाराज पधारो | Gajanand Maharaj Padharo गजानंद महाराज पधारो गजानंद महाराज पधारो कीर्तन की तयारी हैआओ आओ बेगा आओ चाव दर्श को भारी हैगजानंद महाराज पधारो… थे आवो जद…

Continue Readingगजानंद महाराज पधारो | Gajanand Maharaj Padharo

प्रभु के सिवा कहीं | Prabhu Ke Siva Kahin

प्रभु के सिवा कहीं | Prabhu Ke Siva Kahin फ़िल्मी तर्ज - परदेसियों से ना अखियाँ मिलानाप्रभु के सिवा कहींदिल ना लगाना,नहीं तो पड़ेगा तुझे,नहीं तो पड़ेगा तुझे,आंसू बहाना,प्रभू के…

Continue Readingप्रभु के सिवा कहीं | Prabhu Ke Siva Kahin

लक्ष्मी जी की कहानी | Lakshmi Ji Ki Kahani

लक्ष्मी जी की कहानी | Lakshmi Ji Ki Kahani एक बनिए से लक्ष्मी जी रूठ गई।जाते वक्त बोली मैं जा रही हूँ और मेरी जगह टोटा(नुकसान)आ रहा है। तैयार हो…

Continue Readingलक्ष्मी जी की कहानी | Lakshmi Ji Ki Kahani

लड्डूगोपाल आरती | Laddugopal Aarti

लड्डूगोपाल आरती | Laddugopal Aarti आरती बाल कृष्ण की कीजै ।अपना जन्म सफल कर लीजै ॥आरती बाल कृष्ण की कीजै… श्री यशोदा का परम दुलारा ।बाबा के अँखियन का तारा…

Continue Readingलड्डूगोपाल आरती | Laddugopal Aarti

रविवार व्रत आरती | Ravivar Vrat Aarti

कहुं लगि आरती दास करेंगे, सकल जगत जाकी जोत विराजे।सात समुद्र जाके चरणनि बसे, कहा भये जल कुम्भ भरे हो राम। कोटि भानु जाके नख की शोभा, कहा भयो मन्दिर…

Continue Readingरविवार व्रत आरती | Ravivar Vrat Aarti

शालिग्राम आरती | Shaligram Aarti

शालिग्राम सुनो विनती मेरी ।यह वरदान दयाकर पाऊं ॥ प्रात: समय उठी मंजन करके ।प्रेम सहित स्नान कराऊँ ॥ चन्दन धुप दीप तुलसीदल ।वरन -वरण के पुष्प चढ़ाऊँ ॥ तुम्हरे…

Continue Readingशालिग्राम आरती | Shaligram Aarti

परशुराम चालीसा | Parshuram Chalisa

॥ दोहा ॥ श्री गुरु चरण सरोज छवि, निज मन मन्दिर धारि।सुमरि गजानन शारदा, गहि आशिष त्रिपुरारि॥बुद्धिहीन जन जानिये, अवगुणों का भण्डार।बरणों परशुराम सुयश, निज मति के अनुसार॥ ॥ चौपाई…

Continue Readingपरशुराम चालीसा | Parshuram Chalisa

श्री विष्णु स्तुति | Shree Vishnu Stuti

शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशंविश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णं शुभाङ्गम् ।लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यंवन्दे विष्णुं भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम् ॥ यं ब्रह्मा वरुणेन्द्ररुद्रमरुतः स्तुन्वन्ति दिव्यैस्स्तवैःवेदैः साङ्गपदक्रमोपनिषदैर्गायन्ति यं सामगाः ।ध्यानावस्थिततद्गतेन मनसा पश्यन्ति यं योगिनोयस्यान्तं न विदुः सुरासुरगणा…

Continue Readingश्री विष्णु स्तुति | Shree Vishnu Stuti

तुलसी माता जी चालीसा | Tulsi Mata Ji Chalisa

॥दोहा॥ जय जय तुलसी भगवती सत्यवती सुखदानी।नमो नमो हरि प्रेयसी श्री वृन्दा गुन खानी॥श्री हरि शीश बिरजिनी, देहु अमर वर अम्ब।जनहित हे वृन्दावनी अब न करहु विलम्ब॥ ॥चौपाई॥ धन्य धन्य…

Continue Readingतुलसी माता जी चालीसा | Tulsi Mata Ji Chalisa

श्री बद्रीनाथ जी आरती | Shree Badrinath Ji Aarti

पवन मंद सुगंध शीतल, हेम मन्दिर शोभितम्।निकट गंगा बहत निर्मल,श्री बद्रीनाथ विश्वम्भरम्॥शेष सुमिरन, करत निशदिन,धरत ध्यान महेश्वरम्।वेद ब्रह्मा करत स्तुति श्री बद्रीनाथ विश्वम्भरम्॥इन्द्र चन्द्र कुबेर दिनकर, धूप दीप निवेदितम्।सिद्ध मुनिजन…

Continue Readingश्री बद्रीनाथ जी आरती | Shree Badrinath Ji Aarti

End of content

No more pages to load